श्रीमाँ

ShriArvind

ShriArvind
श्रीअरविंद

FLAG






Total Pageviews

Followers

Wednesday, 16 November 2011

KAALYATRA-TIME SPAN

इस सदी के महान वैज्ञानिक ''स्टीफन हव्किंस'' की ''कालयात्रा'' पर मैंने इन दिनों DISCOVERY CHANNEL पर एक DOCUMENTRY देखी है ...SIR STIFAN ने अपनी असाधारण प्रतिभा से BLACK HOLE पर भी बहुत अच्छा काम किया है ..और उसी प्रज्ञा से ''कालयात्रा'' का उनका अनुसन्धान है ...इधर अंतरिक्ष ,समय ,और धरती ...ये मेरी भी अन्तरिक्ष्य प्रिय नदिया रही हैं ...इनमे मैं भी अक्सर छलांग लगाकर नहाता रहा हूँ ...अत; मैं इस ब्लॉग के माध्यम से TIME MAGZINE और STIFAN HAWKINS तथा NASA को कुछ और तथ्यों से भी अवगत कराना चाहता हूँ ....
                                     यह एक तथ्य है कि कोई भी ग्रह 'स्वभाव से समय सापेक्ष ' ही होता है ..और अंतरिक्ष -समय निरपेक्ष ....होता है ...यानि जिस धरती पर हम रहते हैं ...वह समय सापेक्ष स्वभाव की है ...परन्तु अंतरिक्ष -''समय निरपेक्ष स्वभाव का ''...है ...
                                     अब अगर मैं धरती की काल यात्रा पर निकलूँ ....और भविष्य की काल यात्रा पर निकलूँ...तो मैं यह यात्रा आरम्भ ही नहीं कर सकता ....क्योंकि सारी धरती समय सापेक्ष है ...वर्तमान में है ...और उपस्थित है ...इसी तरह अगर में भूतकाल की यात्रा पर इस धरती पर निकलूँ ...तो भी स्थति कालसापेक्ष ही है ...और वर्तमान है ...उपस्थित है ...यानि स्थूल जगत में समय हमेशा ''सापेक्ष'' ही होता है ...वर्तमान में होता है ...इसी तरह ...अगर मैं अंतरिक्ष में छलांग लगाकर किसी अंतरिक्ष यान की सहायता से काल यात्रा पर निकलूँ ....तो वहां न तो भूतकाल का अस्तित्व है ...और न ही भविष्य का है ...अंतरिक्ष ''कालनिरपेक्ष'' अवस्था में है ....यह एक महाप्रवाह है ...अंतरिक्ष को में स्थूल नहीं मानता ...क्योकि यहाँ ''शूक्ष्म और शून्य दोनों में दिखाई देने वाला अंतरिक्ष रहता है ...लेकिन धरती पर स्थूल में शूक्ष्म रहता है ......
                                                अब शेष बात कल ..........................रविदत्त मोहता ,भारत      

No comments:

Post a Comment